Published On: Wed, Oct 1st, 2014

अगली सूचना तक छह दिन जेल में रहेंगी जयललिता

[ A+ ] /[ A- ]


बेंगलूर। कर्नाटक उच्च न्यायालय से तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता को तुरंत राहत नहीं मिल सकी और उनकी जमानत याचिका की सुनवाई अब सोमवार छह अक्टूबर को होगी। जयललिता ने विशेष अदालत से मिली चार वर्ष के कारावास और 100 करोड़ रुपये जुर्माने की सजा को स्थगित करने और जमानत के लिए सोमवार को चार याचिकाएँ दाखिल की थीं, जिन्हें उच्च न्यायालय ने मंगलवार को विचार के लिए स्वीकार कर लिया था।

RH-Jail Jayalalithaऐसा लगता है कि इस मामले के लिए राज्य सरकार द्वारा विशेष सरकारी एडवोकेट की नियुक्ति को लेकर कुछ भ्रम की स्थिति थी। निचली अदालत के विशेष एडवोकेट भवानी सिंह ने उच्च न्यायालय को सूचित किया कि उन्हें अपनी सेवाएं जारी रखने के लिए राज्य सरकार से कोई सूचना नहीं मिली है।

न्यायाधीश रत्नकला ने जयललिता द्वारा दाखिल याचिकाओं को अभियोजन पक्ष की दलील सुने बिना विचार के लिए स्वीकार कर लिया। न्यायाधीश ने अब अभियोजन पक्ष से याचिका के विरुद्ध आपत्ति दर्ज कराने के लिए कहा कि तब सिंह के सहायक एडवोकेट ने कहा कि उन्हें अब तक सरकार का कोई निर्देश नहीं मिला है।

जयललिता के एडवोकेट राम जेठमलानी ने जमानत के आवेदन की सुनवाई तुरंत शुरू करने की मांग की और कहा कि सजा दस वर्ष से कम है इसलिए सुनवाई तुरंत प्रारंभ की जानी चाहिए लेकिन न्यायाधीश ने सुनवाई छह अक्टूबर के लिए स्थगित कर दी। सूत्रों के अनुसार उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश डीएच वघेला विशेष सरकारी एडवोकेट की नियुक्ति के बारे में राज्य सरकार से बात करेंगे।

जयललिता के एडवोकेट राम जेठमलानी तथा उनके अन्य सहयोगियों ने कहा कि उनके मुवक्किल की जमानत की सुनवाई मंगलवार को ही करके उन्हें रिहा किया जाना चाहिए। जमानत नहीं मिल पाने के कारण जयललिता अब छह दिन और जेल में रहेंगी।

Subscribe to Republic Hind News


About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Copyright © 2012-18 Republic Hind News Network. All Rights Reserved.