Published On: Tue, Oct 7th, 2014

दिल्ली में मेरे रहते, महाराष्ट्र को कोई विभाजित नहीं कर सकता: मोदी

[ A+ ] /[ A- ]


मुम्बई। मोदी सरकार पर महाराष्ट्र को विभाजित करने का लग रहे आरोप के खारिज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब तक वह दिल्ली में हैं, तबतक कोई ताकत न तो राज्य का विभाजन कर सकती है और न ही मुंबई को महाराष्ट्र से अलग कर सकती है।

RH-Modi Maharastraमहाराष्ट्र जिले के धुले में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, “काँग्रेस के नेता कपास और प्याज के बारे में झूठ फैलाते रहे हैं। अब उन्होंने नया झूठ बोलना शुरू किया है। वे कह रहे हैं कि महाराष्ट्र को विभाजित कर दिया जायेगा। क्या देश में कोई ऐसा पैदा हुआ है, जो शिवाजी की भूमि को बांट सके। मोदी ने कहा कि मैं आपको आश्वस्त करता हूँ जब तक मैं दिल्ली में हूं, दुनिया की कोई ताकत न तो महाराष्ट्र को बाँट सकती है और न ही मुंबई को महाराष्ट्र से अलग कर सकती है।

मोदी को यह आश्वसन इसलिए देना क्योंकि चुनाव प्रचार के दौरान मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र से मुम्बई को अलग करने का मोदी का छिपा एजेंडा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है, जिसमें देश को वृद्धि के पथ पर आगे ले जाने की क्षमता है और मुंबई इसके केंद्र में है।

पिछले 15 साल से महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ कांग्रेस गठबंधन की किसानों के आत्महत्या करने की घटनाओं को घटित होने देने के लिए आलोचना करते हुए मोदी ने लोगों से 15 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव में किसानों के हत्यारों को दंडित करने की अपील की। मोदी ने कहा कि 15 अक्टूबर को कमल के निशान पर बटन दबाएं और राज्य को काँग्रेस के कुशासन से मुक्ति दिलाएं।

काँग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर एक तरह से चुटकी लेते हुए मोदी ने कहा कि उन्हें (मोदी) गरीबों के घर जाकर एक गरीब व्यक्ति का भोजन छीनने और फोटो खिंचाने की जरूरत नहीं पड़ती, क्योंकि वह खुद एक गरीब परिवार से आते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आपके बीच लोकसभा चुनाव के दौरान आया था। मैंने आपसे आग्रह किया था कि मुझ पर भरोसा करें। मैंने जो कहा, आपने उसपर भरोसा किया और धुले एवं नंदरबार से भाजपा सांसद को विजयी बनाकर भेजा। उन्होंने कहा कि अब मैं आपके बीच चार महीने बाद फिर आया हूं। राजनेता अपना वादा पूरा करना भूल जाते हैं, लेकिन मैं राजनीतिक व्यक्ति नहीं हूं। मैं आपका सेवक हूं। मैं भारत का पहला सेवक हूं।

मोदी ने कहा कि जब हमारे कार्यकाल का 60 महीने का समय पूरा होगा, तब मैं हर पल और एक एक पैसे का हिसाब दूंगा। हमने विकास का वादा किया है और हम इसे पूरा करेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि 15 अक्टूबर का इंतजार करें। जैसे ही भाजपा सरकार सत्ता में आयेगी, हम पूर्ववर्ती कांग्रेस-राकांपा सरकार की गलत नीतियों के कारण कपास और प्याज उत्पादकों को हुए नुकसान की भरपाई करेंगे।

मोदी ने कहा कि हम ऐसे लोग नहीं है, जो कांग्रेस की तरह गलत वादे करें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने मनमाड-इंदौर रेल लाइन का काम पूरा कराने का वादा करके कई चुनाव जीते, लेकिन एक इंच लाइन नहीं बिछाई गई। मोदी ने कहा कि क्या कांग्रेस ने 60 वर्षों में कुछ भी किया, पंचायत से संसद तक उनका शासन रहा, लेकिन उन्होंने 60 वर्षों के शासन का कोई हिसाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि वे ऐसे निर्लज्ज लोग हैं कि वे इसकी बजाए मेरे 60 दिनों के शासन का हिसाब मांग रहे हैं। क्या यह अन्याय नहीं है।

कांग्रेस और राकांपा पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि जो लोग हार की कगार पर है, वे अफवाहें फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस-राकांपा ने पिछले सालों में महाराष्ट्र की पूरी पीढ़ी को बर्बाद कर दिया है। युवाओं के लिए कोई रोजगार नहीं है, महिलाओं को सुरक्षा नहीं है, ये उनके कृत्य हैं। किसान आत्महत्या कर रहे थे, जबकि राज्य एवं केंद्र में उस समय वे (कांग्रेस-राकांपा) सत्ता में थे। मोदी ने लोगों से पूछा कि क्या किसानों की आत्महत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित नहीं किया जाना चाहिए, क्या आप उन्हें दंडित करेंगे, क्या आप कमल पर वोट देंगे और भ्रष्टों को उखाड़ फेकेंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने 40 वर्ष पहले बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया। तब कांग्रेस के नेता कहते थे कि बैंकों के पैसे का उपयोग गरीबों के लिए होना चाहिए। लेकिन मैं अपने आदिवासी और गरीब मित्रों से पूछना चाहता हूं कि क्या आपने बैंक में किसी गरीब व्यक्ति को देखा है।

मोदी ने कहा कि हमने प्रधानमंत्री जनधन योजना लागू की है ताकि बैंक के धन का उपयोग गरीबों के लिए हो सके। मराठी में भाषण की शुरुआत करते हुए मोदी ने कहा कि मुझे गरीबों के झोपड़े में फोटो खिंचवाकर यह जताने की जरूरत नहीं पड़ती कि मुझे गरीबों की चिंता है। मैं गरीबों के बीच से ही यहां आया हूं। उन्होंने कहा कि हमारे दो डॉक्टर सांसद (धुले से सांसद डॉक्टर सुभाष भामरे और नंदरबार से डॉक्टर हिना गावित) हैं, ताकि गरीबी की बीमारी दूर हो सके।

Subscribe to Republic Hind News


About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Copyright © 2012-18 Republic Hind News Network. All Rights Reserved.