Published On: Wed, Jan 14th, 2015

मुहम्मद का कार्टून लेकर लौटा ‘चार्ली हब्दो’

[ A+ ] /[ A- ]


पेरिस। मशहूर व्यंग पत्रिका ‘चार्ली हब्दो’ भयानक नरसंहार के बाद बुधवार को नये अंक के साथ दोगुने जोश से वापस आ गई है। पत्रिका ने नये अंक में मुसलमानों की पैगंबर मुहम्मद का कार्टून प्रकाशित की है। हालांकि मुहम्मद और आईएसआईएस प्रमुख अल बगदादी की कार्टून छापने के कारण मुस्लिम जिहादियों-आतंकवादियों ने पेरिस स्थित पत्रिका के दफ्तर में घुसकर 12 लोगों की हत्या कर दी थी, जिसमें संपादक, पत्रकार और कार्टूनिस्ट मारे गये थे।

RH-Charlie Hebdoचार्ली हब्दो के ताजा अंक में पहले पृष्ठ पर ‘सब कुछ माफ है’ की शीर्षक दी गई है। इसके साथ ही मुसलमानों की पैगम्बर मुहम्मद का एक कार्टून है, जिसमें उसकी आंखों से आंसू निकल रहे हैं और हाथों में पकड़ी तख्ती पर लिखा हुआ है, ‘मैं चार्ली हूँ।’

फ्रांस के इस व्यंग्य पत्रिका चार्ली हब्दो के कवर को कई देशों की मीडिया ने खुलकर प्रकाशित की है। कई पश्चिमी और लैटिन अमेरिकी देशों की मीडिया ने भी इसे प्रमुखता से छापा है। हालांकि कुछ पश्चिमी देशों, अधिकतर अरब और कुछ अफ्रीकी और एशियाई देशों ने मोहम्मद के चित्रण पर मुस्लिमों की आपत्ति के कारण इसे नहीं छापा है।

पत्रिका की ताजा अंक में प्रकाशित एक कार्टून में उन दो हमलावरों को भी मजाक उड़ाया गया है। इस कार्टून में हमला करने वाला एक हमलावर जन्नत पहुंचकर पूछता है, ‘मेरी 72 हूरें कहां हैं?’, उसे जवाब मिलता है, ‘वह तो शार्ली की टीम के साथ हैं, लूजर।’

चार्ली हब्दो की इस अंक की 30 लाख कॉपियाँ छापी गईं हैं, जो कि अभी तक छपने वाली कॉपियों की 50 गुना है। इससे पहले पत्रिका तकरीबन 60,000 कॉपियां ही छापती थी। इस अंक में मारे गए कार्टूनिस्टों द्वारा बनाए गए कुछ ऐसे कार्टून भी छापे गए हैं, जो पहले कभी नहीं प्रकाशित नहीं हुए।

अलकायदा ने फिर दी धमकी

अलकायदा की नॉर्थ अफ्रीका ब्रांच ने जिहादिस्ट वेबसाइट पर लिखा गया है कि फ्रांस ने मुस्लिम देशों पर हो रहे अत्याचार और उनके धर्म के साथ खिलवाड़ की सजा पाई है। जब तक माली और सेंट्रल अफ्रीका में हमारे लोगों को मारा जाएगा, सीरिया-इराक में हमले जारी रहेंगे। इसी तरह जब तक मीडिया पैगंबर की छवि बिगाड़ने की कोशिश करेगा, तब तक फ्रांस को इससे भी ज्यादा बड़े हमले झेलने पड़ेंगे।

Subscribe to Republic Hind News




About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Copyright © 2012-18 Republic Hind News Network. All Rights Reserved.